☀ ♥ दिसंबर , 2022: दिन - :: : "'संख्या अगणित बढ गई , वाहन का अति जोर। पर्यावरण बिगड़ रहा, धुँआ घुटा चहुँ ओर !"♥ ♥ ♥☀ ♥

रविवार, 7 फ़रवरी 2016

प्रारंभ..

PRARAMBH IN HINDI
श्री गणेश जी सदा सहाय  !


हे दोस्तों ! मेरा नाम है रश्मि। मैं आप सभी की तरह एक आम सी गृहणी हूँ। आज मेरे जीवन का एक अहम  दिन है , क्यों कि आज से मैं ब्लॉगिंग की शुरुवात करने जा रही हूँ और ये मेरा पहला पोस्ट है। मैं इस ब्लॉग में अपने जीवन से मिले अनुभव और छोटी छोटी खट्टी मीठी यादों को आप सभी दोस्तों  के साथ शेयर करुँगी।


हमारी भारतीय सभ्यता  में ऐसा कहा जाता है कोई काम की शुरुवात करते है तो गणेश जी को याद करते है। अतः मैंने अपना पहला पोस्ट गणेश  जी को समर्पित किया है। 

मैंने जीवन में बहुत उत्तर चढ़ाव देखे है, मैंने उनसे ये सीखा है कि परिस्थिति जो भी हो, दोस्तों ,कभी भी खुद को कमजोर नहीं पड़ने देना चाहिए, क्योकि जब हम   खुद को कमजोर समझने लगते है तो , मेरा यकीन  मानिये, आप उसी पल ,उसी समय से नकारात्मक सोच से घिरने लगते है और आप की मुस्कराहट कहीं खो जाती है।तो ठीक है दोस्तों ! आज के लिए इतना ही, तो मुस्कुराते रहिये !

Image-Google     

4 टिप्‍पणियां: