रविवार, 25 अप्रैल 2021

नव-सृजन

 

NAV-SRIJAN IN HINDI

जब कोई हमें दर्द देता है, आहत करता है तो हमें ऐसा लगता है कि हमारे दिल में गाँठ सी बन गई है और गाँठ दिन-प्रतिदिन और भी मजबूत होती जाती है। यदि हम उसे नहीं खोलते हैं, उसे यूँ ही बना रहने देते है तो परेशानी बढ़ जाती है। यदि हम उस व्यक्ति को माफ कर दें तो हमें लगता है कि जैसे भूमि पर नये पुष्पों का सृजन हुआ और उन पुष्पों की कोमलता व सुन्दरता हमारे दिमाग व दिल को ठंडक पहुँचा रही हो। हम अपने भीतर एक नये ‘स्व’ का सृजन होते हुए पाते हैं, जो कुछ नया सोचता है, कुछ नया कर दिखाने की चाह रखता है, जो हमें दोबारा नयी उम्मीद देता है-खुद को महसूस करने की। 


यदि किसी की कही बात आपके मन को दुःख पहुँचा रही है और आपको लगता है कि वो आपका भला नहीं चाहता है, आपका शत्रु है तो ऐसी भावना आपके मन को विष से भरने का कार्य करती है, जो सिर्फ एक ही कार्य से ठीक हो सकती है कि उस इन्सान को माफ कर दिया जाये, जिसने आपको दुःख पहुँचाया है- पर पूरे हृदय से और पहचान करिये उन शक्तियों को जो ईश्वर ने जन्म के बाद निरन्तर  आपको प्रदान की है।


खुद को मोटीवेट कीजिये । हमारा जीवन हमारे विचारों और नजरिये का ही  तो प्रतिबिम्ब है। हम जैसा सोचते हैं वैसा करते हैं एवं वैसे ही साँचे में ढ़लते जाते हैं। किसी को माफ कर देना खुद के मन को औषधी देने के समान है। किसी  के सोच व नजरिये को बदलना आसान नहीं है पर अपने-आप पर हमारा कन्ट्रोल तो हो ही सकता है कि किसी की कही बुरी बात या हरकत को मन में रखकर दुःखी रहने की बजाय हमें  खुद को पाॅजिटिव रखकर अपने कार्यों पर फोकस करना चाहिए। 


अपने मन को उन कार्यों में व्यस्त रखना चाहिए, जो हमें और भी बेहतर बनाये, हमें खुशी दे और कुछ सार्थक करना इतना भी मुश्किल नहीं होता। ये मन हमारा  है, हम इसके स्वामी हैं, बस अपनी आवाज इस तक हमें पहुँचाना होता है। किसी की गलत बातों से खीजकर, गुस्सा कर अपने मन को दुःख पहुँचाना गलत है। ऐसे व्यक्ति को माफ कर देना, और कुछ नहीं, एक नवीन मन का सृजन करना ही तो है, जिससे हमें खुद को पहचानने की समझ व कुछ नया करने की शक्ति मिलती है। 


तो बस निगेटिव एनर्जी को करिये बाॅय-बाॅय और जिन्दगी को पूरे उत्साह के साथ जीना शुरु करिये, साथ ही साथ, आप सभी अपना  ख्याल रखिये और अपनों का भी।  

मास्क पहनें, सुरक्षित रहें |
     

Image:Google

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें